Central Employees DA Hike News: बड़ीखबर! केंद्रीय कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, महंगाई भत्ता 4% बढ़ा, जाने पूरी खबर

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता बढ़ने का लंबे समय से इन्तजार था। लेकिन अब केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार ने महंगाई भत्ते में 4% की बढ़ोतरी कर दी है।

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए यह एक बड़ी राहत की खबर है। महंगाई भत्ता बढ़ने से केंद्रीय कर्मचारियों को कई तरह के फायदे मिलेंगे। दरअसल, 7 मार्च को केबिनेट की बैठक में केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले महंगाई भत्ते में 4% बढ़ोतरी का ऐलान किया है।

अभी मौजूदा समय में केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 46 फीसदी की दर से दिया जा रहा है लेकिन अब महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद यह 50 फीसदी हो गया है।

इसीलिए अब केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 50 फीसदी की दर से दिया जाएगा। यह 1 जनवरी 2024 से लागू होगा। महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी साल में दो बार होती है, इस साल की पहली छमाही के लिए महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है।

इसका फायदा करीब 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को और 68 लाख पेंशनर्स को होने वाला है। कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 4% की बढ़ोतरी पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया की इस बढ़ोतरी से अब सरकार पर 12868 करोड़ रुपए का बोझ आने वाला है।

ये भी पढ़ें   Skill India Mission 2024 Online Registration: इस योजना के तहत मिलेगी फ्री स्किल ट्रेनिंग, यहाँ से करे अपना आवेदन

केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ते 46% से 50% होने से अब मकान किराया भत्ता भी बढ़ेगा। इस भत्ते को केंद्र सरकार द्वारा 27, 18 और 9% से बढ़ाकर 30, 20 और 10% किया जाएगा। आइए जानते है महंगाई भत्ते से जुड़ी पूरी अपडेट। आप हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

महंगाई भत्ते में 4% की बढ़ोतरी से कितना होगा फायदा

महंगाई के असर को कम करने के लिए सरकार द्वारा हर 6 माह केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की जाती है। महंगाई भत्ता बेसिक सैलेरी का एक निश्चित परसेंट होता है।

केंद्र सरकार द्वारा मौजूदा महंगाई के अनुसार हर 6 माह में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की जाती है। महंगाई भत्ता बढ़ने से कितना फायदा होगा इसके लिए हम एक फॉर्मूला से समझ सकते है जो की निम्न है- (बेसिक पे + ग्रेड पे) × DA% = DA अमाउंट

ये भी पढ़ें   E-shram Card List 2023: ई-श्रम कार्ड के 1000 रुपए की किस्त जारी, नई लिस्ट में देखे अपना नाम, जानिए सम्पूर्ण अपडेट

यानी की बेसिक सैलेरी में हम ग्रेड पर जोड़ देते है जोड़ने के बाद जो सैलेरी बनती है उसे हम महंगाई भत्ते की दर से गुणा कर लेते है इसके बाद जो परिणाम आता है उसे ही हम महंगाई भत्ता कहते है।

यदि हम इसे एक उदाहरण के तौर पर समझे तो- माना की आपकी बेसिक सैलेरी 10 हजार रुपए है और आपको ग्रेड पे सैलेरी 1000 रुपए मिलती है। इनको जोड़ने पर आपकी कुल सैलेरी 11000 रुपए बनती है। अब हम यह देखते है की महंगाई भत्ते में 4% का इजाफा होने से यह 50% हो गया है जिसके लिहाज से देखे तो यह 5500 रुपए हुआ।

इन सब को जोड़कर आपकी कुल सैलेरी 16500 रुपए हुई। यानी की 4% महंगाई भत्ता बढ़ने से आपको हर माह 440 रुपए का फायदा होगा।

महंगाई भत्ते का केलकुलेशन हर 6 माह में होता है

केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी हर 6 माह में की जाती है। ताकि महंगाई बढ़ने के बावजूद भी केंद्रीय कर्मचारियों का जीवन स्तर बना रहे।

ये भी पढ़ें   Google Jobs After 12th: 12वीं बाद गूगल में जॉब कैसे ले, क्या है पूरी प्रोसेस, जाने सम्पूर्ण डिटेल

देश की चल रही महंगाई को देखते हुए DA में बढ़ोतरी का ऐलान किया जाता है। महंगाई भत्ता शहरी, अर्ध-शहरी या ग्रामीण क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए समान ही यह जरुरी नहीं है। इनके लिए यह अलग अलग हो सकता है।

महंगाई भत्ते का केलकुलेशन कैसे होता है?

केंद्र सरकार ने महंगाई भत्ते के केलकुलेशन के लिए एक फार्मूला तैयार कर रखा है जिसके आधार पर महंगाई भत्ते का निर्धारण किया जाता है। जो की निम्न है-

[(पिछले 12 महीने के ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (AICPI) का औसत – 115.76)/115.76]×100

इसके अलावा यदि हम पब्लिक सेक्टर यूनिट (PSU) में काम करने वाले लोगो के महंगाई भत्ते की बात करे तो इसके केलकुलेशन का तरीका कुछ इस प्रकार से रहता है-

 (बीते 3 महीनों के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का औसत (बेस ईयर 2001=100)-126.33))x100

Leave a comment

Join WhatsApp