Best 9 Rajasthan Sarkari Yojana for Women 2024: महिलाओं के लिए राजस्थान सरकार द्वारा संचालित की जा रही महत्वपूर्ण योजनाएँ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Channel Join Now

Rajasthan Sarkari Yojana for Women: राज्य सरकार और भारत सरकार के सहयोग से देश में महिलाओं के लिए उनके हित हेतु कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है।

वैसे भारत सरकार और राज्य सरकार और सभी नागरिकों के हित के लिए समय-समय पर योजनाएं चलाती है। इनमें से किसानों के लिए, युवा भारत के लिए गरीब परिवारों के लिए लड़कियों के लिए छात्रों के लिए सभी के लिए योजनाओं का संचालन किया जा रहा है।

आज हम आपको राजस्थान राज्य में रहने वाली महिलाओं के लिए कौन-कौन सी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। राज्य सरकार के द्वारा कौन सी सरकारी योजना महिलाओं के लिए चलाई जा रही है।

महिलाओं के लिए सरकारी योजनाएं राजस्थान में (Govt Schemes for Women in India)

राज्य सरकार के द्वारा जो योजनाएं महिलाओं के हित के लिए शुरू की जा रही है। उनमें से कुछ योजनाएं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए है। जैसे महिलाएं अपना खुद का व्यापार करना चाहती है तो इन योजना के माध्यम से कर सकती है।

बहुत सी महिलाओं को सिलाई, कढ़ाई, बुनाई, रसोई के कम जैसे पापड़, अचार बनाना आदि में रुचि है तो इन योजनाओं का सहारा लेकर वह अपना खुद का काम शुरू कर सकते हैं।

सरकार के द्वारा इन सभी योजनाओं के चलने का मुख्य उद्देश्य सभी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनकर महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा प्रदान करना है। ताकि समाज में उनका इज्जत और सम्मान की दृष्टि से देखा जाए लड़कियों को हमारे समाज में बहुत कम सम्मान मिलता है। बचपन से ही उन पर बहुत तरह की पाबंदियां लगा दी जाती है।

क्योंकि आज भी कहीं ना कहीं हमारा देश पुरुष प्रधान समाज माना जाता है पुरुषों के समान अधिकार प्राप्त करने हेतु ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार इस तरह की योजनाओं का संचालन करती है। ताकि महिलाएं अपने पति के साथ कंधे से करना मिलाकर चल सके।

महिलाओं व बालिकाओं के लिए महत्वपूर्ण राजस्थान सरकारी योजना 2024

राजस्थान राज्य में महिलाओं को सशक्त आत्मनिर्भर और मजबूत बनाने के लिए बहुत से सरकारी योजनाओं का संचालन महिलाओं के हित के लिए किया गया है। इन योजनाओं के माध्यम से महिला को आत्मनिर्भर बनने का पूरा बढ़ावा मिलेगा।

कौनकौन सी ऐसी सरकारी योजना है जो केवल महिलाओं के हित के लिए है। उनके बारे में अभी जानकारी नहीं है। तो आईए जानते हैं महिलाओं के लिए राजस्थान में सरकारी योजना 2024 कौन-कौन सी है। उसकी पूरी जानकारी।

ये भी पढ़ें   PM Jan Dhan Account Benefits 2024: जन धन अकाउंट पर 1 लाख रुपए के बीमा के साथ ही जीरो बैलेंस पर 10000 रुपए तक का लाभ, जानिए सम्पूर्ण जानकारी

1. राजस्थान महिला निधि योजना

राजस्थान राज्य में लोक प्राधिकरण के द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए और उनकी आर्थिक सहायता हेतु योजनाओं के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाने का उद्देश्य रखा है। इसी मुहिम को बढ़ाते हुए राज्य सरकार के द्वारा राजस्थान महिला निधि योजना 2024 का शुभारंभ किया गया है। यह महिलाओं की सामाजिक और आर्थिक उन्नति और उनको आप निरोध बनाने के लिए शुरू किया गया है।

इस योजना के द्वारा महिला को सशक्त बनाने के साथसाथ बिजनेस वूमेन बनाने के नए उपक्रम योजना के द्वारा दिए जाएंगे। इससे महिलाओं की उत्पादकता में भी सुधार देखने को मिलेगा। राज्य के आर्थिक विकास में भी मजबूती आएगी इस योजना को अभी 26 अगस्त 2023 को महिला पत्राचार दिवस के दिन शुरू किया जाने वाला है।

योजना का उद्देश्य- राजस्थान महिला निधि योजना 2024 का मुख्य देश राज्य में रहने वाली सभी महिला श्रम विकास सभा को बढ़ावा देने और उनको बिजनेस में प्रोत्साहन करने के लिए इस योजना को शुरू किया है। ताकि राजस्थान राज्य में रहने वाली हर महिला को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा और लोगों में काम के प्रति भी नए-नए अवसर जागृत होंगे। इस योजना से महिला सभा और सभी स्थानीय बैंक को आदेश दे दिया गया है। जो महिला गरीब, और सताई हुई है उनको भी उचित सहायता मिलेगी।

2. बालिका दूरस्थ शिक्षा योजना

राजस्थान सरकार के द्वारा लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए और दूरस्थ शिक्षा योजना हेतु 25 अगस्त 2022 को बालिका दिवस की शिक्षा योजना का शुभारंभ किया गया‌है। इस योजना के तहत सभी बालिकाओं की या महिलाओं की फीस भरने के लिए राज्य सरकार ने 14 करोड़ 83 लख रुपए की मंजूरी प्रदान करती है।

प्रदेश में रहने वाली सभी लड़कियों और महिलाओं के लिए डिस्टेंस एजुकेशन के द्वारा हायर एजुकेशन पाने वाले सभी शिक्षण संस्थान में फीस भरने की पूरी मंजूरी दे दी है इस योजना से सभी महिलाएं और राज्य की लड़कियां अपनी पढ़ाई को आगे तक जारी रख पाएंगे। और अपना उज्जवल भविष्य बना पाएंगे। अब तक सरकार के द्वारा कुल 36300 लड़कियों और महिलाओं को इस योजना का पूरा लाभ मिल गया है

3. मुख्यमंत्री राजश्री योजना

मुख्यमंत्री राजश्री योजना की शुरुआत 1 जून 2016 को की गई थी। इस योजना के तहत राज्य में समझ में जो भी महिलाओं के बालिकाओं के प्रति नकारात्मक सोच है उसको खत्म करना और सकारात्मक सोच को विकसित करना। इसके अलावा बालिकाओं के स्वास्थ्य और शिक्षा के स्तर में सुधार लाना ही इसकी मुख्य पहल है।

ये भी पढ़ें   E-shram Card List 2023: ई-श्रम कार्ड के 1000 रुपए की किस्त जारी, नई लिस्ट में देखे अपना नाम, जानिए सम्पूर्ण अपडेट

मुख्यमंत्री राजश्री योजना के तहत बालिका के माता-पिता या फिर उसके गार्जियन को ₹50000 की आर्थिक सहायता राशि दी जाएगी। जो की किस्तों में बालिका के बैंक अकाउंट में आएगी। यह किस्त बालिका की 12वीं कक्षा पास करने तक दी जाएगी

4. सामूहिक विवाह नियमन अनुदान योजना

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा बजट सत्र 2019 में सामूहिक विवाह नियमन एवं अनुदान योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के लिए कहा गया था कि समाज में हो रही दहेज प्रथा, बाल विवाह या विवाह में होने वाले अनुचित खर्चे को बंद करने के लिए शुरू किया गया है।

यह समझ में बन रही सामाजिक कुरीतियों कहीं ना कहीं व्यक्ति पर मानसिक बोझ डाल देती है। इन सभी कुर्तियां पर बिना किसी सहयोग के प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

विवाह में होने वाले बेफिजूल के खर्चे दहेज प्रथा, बाल विवाह आदि की रोकथाम के लिए इस योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के तहत विवाह आयोजन करवाने वाली संस्था शादीशुदा जोड़े को ₹25000 की सहायता राशि इसलिए धन के रूप में दुल्हन के खाते में प्रदान करेगी।

5. राजस्थान वर्क फ्रॉम होम योजना

राजस्थान राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा महिलाओं को सशक्त मजबूत बनाने के लिए वर्क फ्रॉम होम जॉब वर्क की शुरुआत की गई है। यह योजना की शुरुआत बजट सत्र में की गई है।

इस योजना के तहत ऐसी महिलाएं जो वर्क फ्रॉम होम करके अपने परिवार की स्थिति मजबूत बनाने का काम करेगी और उनकी आजीविका में योगदान भी दे सकेंगे। इसके लिए आने वाले सालों में 20,000 महिलाओं को इस योजना का पूरा लाभ दिया जाएगा।

6. प्रसूति सहायता योजना

राजस्थान राज्य में श्रमिक विभाग कल्याण के द्वारा प्रस्तुति सहायता योजना की शुरुआत की गई है। योजना के तहत किसी महिला के पुत्री के जन्म होने पर उसको ₹21000 की सहायता राशि और पुत्र होने पर 20,000 की सहायता राशि दी जाएगी। इस सहायता राशि प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य महिला को आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है।

गर्भावस्था के दौरान महिला को उचित पौष्टिक भोजन और उचित देखभाल की जरूरत होती है इसी के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है ताकि उनका आर्थिक सहायता राशि जो मिले उसको अपनी देखभाल में लगा सके।

आज भी राज्य में ऐसी बहुत ही गरीब और ऐसा है महिलाएं हैं जो अपना खर्चा उठाने में असमर्थ है सरकार के द्वारा ऐसी गर्भवती महिलाओं की स्थिति को देखते हुए ही इस योजना को शुरू किया है।

7. आंगनबाड़ी केंद्र सह शिशुपालना केंद्र

आंगनबाड़ी केंद्र सह शिशु पालन केंद्र योजना की शुरुआत 2015 में की गई थी। यह योजना बच्चों के लिए शुरू किया गई है। भारत सरकार और राज्य सरकार के दिशा निर्देश अनुसार जो महिला कामकाजी है, और वह अपने बच्चों को घर पर अकेला नहीं छोड़ सकती है। ऐसी स्थिति में बच्चों को आंगनवाड़ी केंद्र पर छोड़ने की सुविधा के लिए और बच्चों की उचित देखभाल उनके भरण-पोषण के लिए ही इस योजना को शुरू किया है।

ये भी पढ़ें   Free Gas Cylinder Yojana: त्योहारी सीजन में इन महिलाओं को मिलेगा फ्री गैस सिलेंडर, जाने पूरी खबर

8. जननी सुरक्षा योजना

राजस्थान राज्य में जननी सुरक्षा योजना 2005 में केवल बीपीएल परिवार की महिलाओं के लिए शुरू किया गया था। लेकिन 2006 में इसमें कुछ बदलाव कर दिए गए और इस योजना को हर वर्ष की महिला के लिए शुरू किया।

राज्य में हर साल सैकड़ों महिलाओं की मृत्यु गर्भावस्था के समय उनके उचित देखभाल ना होने की वजह से वो मर जाती है या फिर उनका सही समय पर उचित इलाज नहीं मिल पाता है। जिसके कारण उनकी मृत्यु हो जाती है।

इस तरह की स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने महिलाओं को मजबूत बनाने और आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए ही जननी सुरक्षा योजना राजस्थान की शुरुआत की।

इस योजना को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से शुरू किया गया। राज्य के हर वर्ग के लोगों को इस योजना का लाभ देने का काम किया जा रहा है। इसके अलावा इस योजना का मुख्य उद्देश्य गर्भवती माता और उसके बच्चे की मृत्यु दर को कम करना है।

9. एकल नारी पेंशन योजना

राजस्थान सरकार की एकल नारी पेंशन योजना के तहत 18 वर्ष या अधिक आयु की विधवा/परित्यक्ता/तलाकशुदा महिला, जो राजस्थान की मूल निवासी हो तथा राजस्थान में रह रही हो, एवं जिसके जीवन निर्वाह हेतु स्वयं की नियमित आय का कोई स्त्रोत नहीं हो, अथवा प्राथी की समस्त स्त्रोतों से कुल वार्षिक आय रूपयं 48000/- से कम हो, को पेंशन देय है।

बी.पी.एल./अंत्योदय/आस्थाकार्डधारी परिवार/सहरिया/कथौड़ी/खैरवा जाति एवं एचआईवी एड्स पॉजिटिव हो तथा राजस्थान राज्य एड्स कंट्रोल सोसायटी में पंजीकृत है ऐसी विधवा/परित्यकता/तलाकशुदा महिलाओं को आय संबंधी शर्त में छूट प्रदान की गई है।

Rajasthan Sarkari Yojana for Women List 2024

राजस्थान सरकार के द्वारा संचालित की जा रही महिलाओं के हित में विभिन्न कल्याणकारी योजाओं की सूची यहाँ से चेक कर सकते है-

  • देवनारायण प्रतिभावान छात्रा प्रोत्साहन योजना
  • देवनारायण छात्रा साइकिल योजना
  • देवनारायण छात्रा स्कूटी व प्रोत्साहन योजना
  • कालीबाई भील मेधावी छात्र स्कूटी वितरण योजना
  • वृद्धावस्था पेंशन योजना
  • एकल नारी पेंशन योजना
  • महिला स्वयसिद्ध योजना
  • विधवा विवाह उपहार योजना
  • मुख्यमंत्री हमारी बेटी योजना
  • इन्दिरा प्रियदर्शिनी योजना
  • आपकी बेटी योजना
  • शुभशक्ति योजना
  • प्रधानमंत्री मात्र वंदना योजना
  • मुख्यमंत्री राजश्री योजना
  • एकल बालिका योजना
  • कस्तूरबा गाँधी छात्रा आवासीय स्कूल
  • ई-सखी योजना

Rajasthan Sarkari Yojana for Women 2024- निष्कर्ष

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को “Rajasthan Sarkari Yojana for Women” के बारे में जानकारी प्रदान की है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको जो भी जानकारी इस लेख के माध्यम से दिए वह आपको जरूर पसंद आएगी। अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी और आप राजस्थान राज्य के नागरिक है और इस तरह की योजनाओं की और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं।

3 thoughts on “Best 9 Rajasthan Sarkari Yojana for Women 2024: महिलाओं के लिए राजस्थान सरकार द्वारा संचालित की जा रही महत्वपूर्ण योजनाएँ”

Leave a comment

Join WhatsApp